स्वास्थ्य और सुरक्षा

संरक्षा प्रबंधन प्रणाली

  1. एमआरपीएल ने ISO 9001: 2008, ISO 14001:2004 और ISO 50001:2011 की मान्यता प्राप्ता की है.

  2. एक प्रतिष्ठित ब्रिटिश सेफ्टी काउंसिल, यू.के. ने कंपनी को स्वारस्य्ता एवं सुरक्षा प्रबंधन तंत्र के लिए पंच तारा दर्जा दिया है.

  3. एमआरपीएल में आग रोकने और सुरक्षा प्रदान करने के तंत्र, परिष्करण उद्योग के खतरनाक स्वगरूप को ध्यातन में रखकर बनाए गए हैं जो OISD और TAC के दिशानिर्देशों के अनुरूप हैं. ‍
  4. संरक्षा संबंधी आंकड़ें: एमआरपीएल ने 31 मार्च, 2017 को घायल होने पर समय नष्ट हुए बगैर (RLTI)दुर्घटना मुक्तल 294 दिन हासिल किए और पिछली बार दुर्घटना मुक्तप सर्वाधिक दिन रहे 1662.

  5. संरक्षा संबंधी पुरस्कार: दुर्घटना मुक्तन दिनों के लिए सुरक्षा पुरस्कागर देने की नीति बनाने की वजह है कर्मचारियों और ठेकेदारों को सुरक्षित कार्य वातावरण बनाए रखने और सुनिश्चित के लिए प्रोत्साहन देना.

  6. नीचे उल्लिखित तंत्र और क्रियाविधियां लागू की गई हैं:

  • क्षेत्र की संरक्षा की देखरेख करने के लिए समिति: विभागीय स्तणर पर संबंधित महा प्रबंधक/उप महा प्रबंधक और गैर पर्यवेक्षक कर्मचारियों की छत्रछाया में क्षेत्र सुरक्षा समितियों (ASC) का गठन किया गया है जो महीने में एक बैठक बुलाकर उन कारकों का मूल्यांकन, नियंत्रण एवं तहकीकात करेंगी जिससे दुर्घटना होने की संभावना हो और समाधान पेश करेंगी.
  • केंद्रीय संरक्षा समिति: केंद्रीय संरक्षा समिति नामक एक शीर्ष निकाय की स्थाहपना की गई है जो रिफाइनरी संरक्षा प्रबंधन प्रणाली की समीक्षा करेगा और उन पर निगरानी रखेगा. सीएससी की महीने में एक बैठक होती है जिसके अध्य क्ष, समप्र (रिफाइनरी के प्रभारी) और सचिव, मुख्यव प्रबंधक (संरक्षा) होते हैं. इस समिति में सभी एएससी अध्यहक्ष, विभागाध्यक्ष, मुख्यम चिकित्सा अधिकारी, कल्या ण अधिकारी और क्रय विभाग के प्रतिनिधि होते हैं.
  • कार्य परमिट तंत्र: एमआरपीएल ने OISD के दिशानिर्देशों के आधार पर कार्य परमिट तंत्र बनाया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सारे कार्य, प्रचालन और रख-रखाव दलों के सक्रिय सहयोग के साथ संरक्षित तरीके से किए जाते हैं. अग्नि और सुरक्षा तंत्र में, लिखित सूचना के अनुपालन का सत्यापन किया जाता है और चूक करने वाले पक्षकारों को निवारक कार्रवाई के बारे में उपयुक्ति सलाह दी जाती है. एमआरपीएल में प्रवृत्त विभिन्न कार्य परमिट इस प्रकार हैं:
    • कोल्ड वर्क परमिट
    • हॉट वर्क / वाहन प्रवेश परमिट
    • सीमित स्था न में प्रवेश / जहाज में प्रवेश / बॉक्सी अप परमिट
    • खुदाई परमिट
    • इलेक्ट्रिकल कार्य परमिट
    • विकिरण संरक्षा परमिट
    • दुर्बल छत/ऊंचाई पर काम करना

लेखा परीक्षा: ब्रिटिश सेफ्टी काउंसिल, KLG-TNO, LPA, म्यू नीश रे, HPCL और OISD जैसी जानी मानी बाह्य एजेंसियों ने विभिन्न लेखा परीक्षाएं की हैं. एमआरपीएल में संरक्षा को लेकर हासिल की गई उच्चप स्तDर की जागरूकता, अंतर्राष्ट्रीय स्तेर की इन लेखा परीक्षा एजेंसियों की तारीफ के काबिल बनी है.

प्रकाशन : संरक्षा न्यूएस लेटर, हर तिमाही में प्रकाशित किया जाता है जिसमें संरक्षा संबंधी जानकारी प्रकट की जाती है. इस न्यूलस लेटर में खुदाई की क्रियाविधियों सहित हमारी हाउसिंग कॉलोनी की खबरें भी प्रकाशित कर परिचालित की जाती हैं. अग्नि और सुरक्षा संबंधी पुस्तिका, ऑनसाइट आपत्कावल प्रतिक्रिया प्रबंधन योजना, कार्य सुरक्षा संबंधी क्रियाविधि, सामग्री संबंधी डेटा शीट (MSDS), खतरनाक वस्तुंओं को ले जाते समय संरक्षा के बारे में जानकारी प्रकाशित की जाती है और इसे सभी कर्मचारियों की तरफ से एमआरपीएल के इंट्रानेट पर प्रदर्शित किया जाता है.

कर्मचारियों का प्रशिक्षण: संरक्षा और अग्नि शमन में प्रशिक्षण एक अविरत पूरे दिन का कार्यक्रम है जिसे संयंत्र के कर्मचारियों के लाभार्थ हर सप्ताह में चलाया जाता है. प्रशिक्षण कार्यक्रम की पाठ्यचर्या में शामिल हैं, हमारे समर्पित प्रशिक्षण केंद्र में सैद्धांतिक विषय पर क्ला सरूप में व्याख्यान के बाद OISD के अनुसार बनाए गए विभिन्न मॉडेलों की मदद से अग्नि प्रशिक्षण मैदान में अग्नि शमन प्रशिक्षण का सीधा नकली प्रदर्शन. हमारी कंपनी में कदम रखने वाले कर एक कर्मचारी के लिए यह अनिवार्य है कि वह औद्योगिक संरक्षा पर एक दिवसीय प्रवेश प्रशिक्षण में और बाद में वर्ष में एक बार पुनश्चरर्या संरक्षा कार्यक्रम में भाग ले.

ठेका कर्मचारियों के लिए प्रशिक्षण :हर एक ठेका कामगार को आवधिक रूप से चलाए जाने वाले अर्ध दिवसीय कार्यक्रम में भाग लेना पड़ता है. ठेका कामगारों को, एमआरपीएल का औद्योगिक संरक्षा प्रशिक्षण पूरा करने के बाद ही रिफाइनरी गेट पास दिया जाता है.

कंपनी का मक़सद है सबसे पहले संरक्षा.

  • कर्मचारियों और ठेका मज़दूरों की खातिर संयंत्र की संरक्षा के बारे में लगातार प्रशिक्षण.
  • आस-पास के उद्योगों की खातिर संरक्षा के बारे में प्रशिक्षण.
  • एमआरपीएल, राष्ट्रीय संरक्षा परिषद के मंगलूर चाप्टीर का संयोजक है.
  • एमआरपीएल में व्यावसायिक स्वासस्य :

    • पेट्रोलियम रिफाइनरी में सभी अपेक्षित संरक्षा संबंधी उपायों का कार्यान्वयन, मुख्यी विस्फोरटक नियंत्रक, भारत सरकार, तेल उद्योग संरक्षा निदेशालय, कारखाना अधिनियम आदि द्वारा निर्धारित मानदंडों एवं अंतर्राष्ट्रीय मानक व्यंवहार के अनुसार किया जाता है.
    • नियमित अंतरालों पर, काम करने के माहौल, वायु की गुणवत्ताी, ध्वंनि और संरक्षा संबंधी मापदंडों (व्यावसायिक एक्सोपोशर) पर निगरानी रखी जाती रही है.
    • पेट्रोलियम रिफाइनरी (यूनिट-वार) में व्यावसायिक स्वा स्य्रा एवं संरक्षा संबंधी पहलुओं, संभावित दुर्घटनाओं और उससे जुड़े जोखिमों के बारे में जागरूकता कार्यक्रम.
    • स्वारस्य् , संरक्षा, अग्नि शमन, वैयक्तिक रक्षात्म‍क उपकरण, आपातकालीन नकली प्रदर्शन आदि की आवश्यकता और उसके उपयोग के बारे में सभी कर्मचारियों के लाभार्थ नियमित प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाए जाते हैं.
    • तेल उद्योग संरक्षा निदेशालय सहित बाह्य एजेंसियों द्वारा रिफाइनरी में नियमित रूप से संरक्षा एवं पर्यावरण लेखा परीक्षण किया जाता है. लेखा परीक्षा अध्योयन के बाद की गईं सिफ़ारिशों का प्राथमिकता के आधार पर कार्यान्वयन किया जाता है.
    • व्यावसायिक स्वा‍स्य केंद्र:

      एमआरपीएल में परिसर के अंदर पूरी तरह से सज्जित व्यावसायिक स्वाकस्य केंद्र (OHC) है जिसकी देखभाल मुख्यक चिकित्सात अधिकारी करते हैं.

      OHC में नीचे उल्लिखित सुविधाएं हैं:

      • दिन-रात एंबुलेंस सेवा
      • आपातकालीन वार्ड - 3 बिस्तार
      • रिकवरी वार्ड - 3 बिस्तार
      • नर्सिंग देखभाल और चिकित्सा‍ परिचर - दिन-रात
      • रासायनिक संस्पलर्श से विषाक्त्न के लिए शावर सुविधा
      • निर्दिष्टम प्रकार के श्वासन से विषाक्तएन के लिए फार्मसी और निर्दिष्टे एंटीडोट्स.
      • व्यावसायिक स्वा स्य्ित और संरक्षा योजना

        कारखाना अधिनियम के तहत अपेक्षा के अनुसार कंपनी के अस्प ताल में कर्मचारियों और ठेका कामगारों की स्वादस्य्णा की, नियमित रूप से जांच की जाती है, किए जाते रहे चिकित्सार परीक्षण के ब्यौ रे नीचे गए हैं:

        क) चिकित्सा, परीक्षा < 40 वर्ष : 40 वर्ष से कम उम्र के कर्मचारियों की चिकित्सा परीक्षा, अस्पवताल में की जाती है. इस परीक्षण में सामान्य चेक-अप के अलावा ऐसे चिकित्सा मापदंड अपनाए जाते हैं जैसे HB,TC,DC,ESR, RBS, मूत्र दिनचर्या, नेत्र परीक्षण.

        ख) चिकित्सा परीक्षा > 40 वर्ष : परीक्षण हैं : HB, TC, DC, ESR, FBS, PPBS, लिपिड प्रोफाइल,यूरिया, क्रिएटिनाइन, मूत्र विश्लेषण, नेत्र परीक्षण, ECG, स्पापइरोमेट्री, और X-Ray के अलावा शारीरिक परीक्षण और CVS जोखिम विश्लेषण.

        ग) > 50 उम्र के कर्मचारियों के लिए TMT और एकोकार्डियोग्रॉफ़ी परीक्षण.

        घ) महिला कर्मचारियों के लिए पेप्सेमीयर और मैमोग्राम परीक्षण.

        ङ) विशेष नेत्र परीक्षण: विभिन्न विभागों के लिए यादृच्छिक आधार पर विशेष नेत्र परीक्षण (
        (रंग दृष्टि परीक्षण भी किया जाता है) किया जाता है.

        च) ऑडीओमेट्री परीक्षण : अधिक ध्व्नि उत्प)न्न होने वाले क्षेत्रों में काम करने वाले सभी कर्मचारियों के लिए ऑडीओमेट्री परीक्षण किया जाता है.

        छ) कैंटीन के कर्मचारियों की चिकित्साव परीक्षा: नीचे उल्लिखित परीक्षण किए जाते हैं जैसे: कोलेस्ट्रॉ्ल, X-ray, ECG सामान्य् चेक-अप, HBSAg HB, TC, DC, ESR, U.A. HIV, VDRL और सामान्यि चेक-अप. कैंटीन के सभी कर्मचारियों को अल्बेंडाजोल, टिनिडाज़ोल गोलियां दी जाती हैं क्योंIकि वे खाद्य सामग्री संभालते हैं.

        ज) अत्याधुनिक क्रोमैटोग्रॉफी का उपयोग करते हुए मूत्र में बेंज़ीन का परीक्षण: मूत्र में बेंज़ीन अंश का परीक्षण करने के लिए कर्मचारियों का एक लक्ष्यं समूह चुना जाता है और अब तक कोई असामान्य: स्थिति नज़र नहीं आई है.

        झ) ठेका कामगारों की चिकित्सा परीक्षा : ठेका कामगारों की नियमित रूप से चिकित्सा( जांच की जाती है जिस दौरान ये परीक्षण किए जाते हैं जैसे HB, TC, DC, ESR, FBS, PPBS, लिपिड प्रोफाइल,यूरिया, क्रिएटिनाइन, मूत्र विश्लेषण, नेत्र परीक्षण, ECG, स्पाअइरोमेट्री, और X-Ray के अलावा शारीरिक परीक्षण और CVS जोखिम विश्लेषण. प्रभावित कर्मचारियों के बारे में कार्रवाई की गई.

        एमआरपीएल के स्वास्थ्य और सुरक्षा नीति देखें

        पंच तारा दर्जा दर्शानेवाला प्रमाणपत्र