सत्यनिष्ठा संधि

केन्द्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) ने सरकारी संगठनों को अपने प्रमुख खरीद (प्रोक्यूमरमेंट) कार्यकलापों में स्वेपच्छासत्म क सत्यननिष्ठाो संधि अंगीकार करने की सलाह दी है।

सत्यनिष्ठाा संधि में तत्वेत: भावी वेंडरों /बोलीकर्ताओं के बीच एक करार परिकल्पिसत है जिसमें दोनों पक्षों के व्ययक्तिठ / अधिकारी संविदा के किसी भी पहलू / चरण में किसी भ्रष्टब पद्धति का आश्रय न लेने के लिए प्रतिबद्ध होते है। केवल उन्हीं वेंडरों /बोलीकर्ताओं को बोली लगाने की प्रक्रिया में भाग लेने के लिए सक्षम माना जाएगा जो क्रेता के साथ ऐसी संधि करते है।

सीवीसी दिशानिर्देश सीपीएससी को यह भी सूचित करते हैं कि वे सत्य्निष्ठा संधि के अंतर्गत दायित्वों के अनुपालन का पर्यवेक्षण करने के लिए सीवीसी द्वारा यथा अनुमोदित स्व‍तंत्र बाह्य मॉनीटरों की नियुक्तिे करें।

एमआरपीएल ने सीवीसी दिशानिर्देशों के अनुपालन में सत्ययनिष्ठाब संधि को कार्यान्वि त किया है और उसकी सिफारिशों के अनुसार, श्री प्रत्युश सिन्हाि, पूर्व सीवीसी को स्वातंत्र बाह्य मॉनीटर के रूप में नियुक्ति किया है।